भटका हुआ भारत

‪मैं यह blog अपने लिए लिख रहा हूँ। खुद की संतुष्टि के लिए। अगर कल कोई मुझसे सवाल पूछे कि तुम उस वक्त चुप क्यूँ थे तो…… Read more “भटका हुआ भारत”

because I’m not an Anti-National

‘सत्ता का खेल तो चलेगा, सरकारें आएंगी जाएँगी, पार्टियां बनेंगी बिगड़ेंगी.. मगर ये देश रहना चाहिए, इस देश का लोकतंत्र अमर रहना चाहिए’ -अटल बिहारी वाजपेयी 2014…… Read more “because I’m not an Anti-National”

Four Years of Broken Promises, Lies and Unofficial Emergency

मैं कोई economist या analyst नहीं हूं या कुछ ज्यादा पढ़ा-लिखा उम्रदराज आदमी भी नहीं हूं लेकिन आम आदमी जरूर हूँ और मुझे सोचने, कहने एवं पूछने…… Read more “Four Years of Broken Promises, Lies and Unofficial Emergency”